बैंकों के विलय को लेकर अपना कन्फ्यूजन दूर करें

बैंकों के विलय को लेकर अपना कन्फ्यूजन दूर करें Bank Merger

बैंक विलय प्रक्रिया के बाद सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की संख्या अब घटकर 12 रह गई है यह संख्या वर्ष 2017 में 27 थी।

बैंकों के विलय को लेकर अपना कन्फ्यूजन दूर करें : नए वित्त वर्ष 1 अप्रैल से सार्वजनिक क्षेत्र के छह बैंक अब इतिहास बन चुके हैं Oriental Bank of Commerce, United Bank of India, Syndicate Bank, Andhra Bank, Corporation Bank और Allahabad Bank इन सभी बैंकों का विलय हो चुका है।

कौन सा बैंक किस बैंक के साथ हुआ है  विलय ?

  • Allahabad Bank का विलय Indian Bank में हुआ है।
  • Syndicate Bank का विलय Canara Bank में हुआ है।
  • Andhra Bank और Corporation Bank का विलय Union Bank of India में  हुआ है।
  • United Bank of India, Oriental Bank of Commerce का विलय Punjab National Bank में हुआ है।

यह भी पढ़े : कोरोना वायरस लाइव अपडेट

Global Total
Last update on:
Cases

Deaths

Recovered

Active

Cases Today

Deaths Today

Critical

Affected Countries

Total in India
Last update on:
Cases

Deaths

Recovered

Active

Cases Today

Deaths Today

Critical

Cases Per Million

विलय हुए बैंकों के ग्राहकों को परेशानी ?

Public Banks के 6 Banks (United Bank of India, Syndicate Bank, Oriental Bank of Commerce, Andhra Bank, Allahabad Bank और Corporation Bank का अस्तित्व खत्म हुआ है लेकिन ग्राहकों पर फिलहाल कोई असर नहीं होगा इनके लीडर बैंक ने स्पष्ट किया है कि ग्राहकों को किसी भी तरह की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा और विलय हुए बैंक के ग्राहकों के Bank Account Number, IFSC Code, Debit Card, Credit Card, Internet Banking Portal, और Login की व्यवस्था पहले जैसे ही रहेगी।

और Fix Deposit(FD), Recurring Deposit(RD) पर मिलने वाले ब्याज में कोई बदलाव नहीं होगा जिन ब्याज दरों पर Home Loan, Personal Loan, Vehicle Loan आदि लिए गए हैं उनमें भी कोई बदलाव नहीं होगा इसके साथ ही जिन ग्राहकों का Loan, SIP Share है उन्हें भी किसी प्रकार की चिंता करने की जरूरत नहीं है।

आप निश्चिंत रहें

बैंकों के विलय को लेकर अपना कन्फ्यूजन दूर करें : विलय होने के बाद कुछ बदलाव तो जरूर हो सकते हैं  जानकारों के मुताबिक आने वाले कुछ महीनों में नए चेकबुक समेत अन्य चीजें जारी भी हो सकती है हालांकि यह सब आज से ही लागू नहीं होने वाला है इसे बैंकों की ओर से धीरे-धीरे लागू किया जाएगा ऐसे में सबसे मेन बात यह है कि आपके ईमेल और मोबाइल नंबर बैंक के साथ मुख्य रूप से अपडेट होने चाहिए ताकि बैंक की ओर से अभी कोई बदलाव किया जाता है तो उसकी सूचना आपको मिल सके।

क्या होगा एटीएम और ब्रांच  का

विलय हुए बैंकों के ATM,Branch और Employee भी फिलहाल ऐसे ही चलते रहेंगे लेकिन अब यह लीडर बैंक के अंतर्गत कार्य करेंगे अगर सीधे समझे तो United Bank of India, Oriental Bank of Commerce के सभी कर्मचारी और सभी एटीएम और ब्रांच अब Punjab National Bank के अधीन होंगे।

यह भी पढ़े : पीएम केयर फंड-किसने दीया कितना फंड

1 thought on “बैंकों के विलय को लेकर अपना कन्फ्यूजन दूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *