Hindi News Website

गन्ना किसानों की 50 वर्ष पुरानी मांग पूरी

Latest News

Delhi News | Hindi News Website – गन्ना किसानों की 50 वर्ष पुरानी मांग पूरी होने पर, पेट्रोल में 20% एथेनॉल मिलाने पर भारत सरकार ने दी मंजूरी।

पेट्रोल में 20% एथेनॉल मिलाने के निर्णय पर, राज्यसभा सांसद श्री विजय पाल सिंह तोमर ने गन्ना किसानों की 50 वर्ष पुरानी मांग पूरी होने पर, प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया।

केंद्र सरकार ने आज एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए, पेट्रोल में एथेनॉल की मात्रा बढाकर अप्रैल, 2023 तक ही 20% करने के निर्णय पर राज्यसभा सांसद श्री विजयपाल सिंह तोमर ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार को धन्यवाद दिया है।

Hindi News Website

श्री तोमर ने पिछले वर्ष ही सन 2020 में राज्यसभा में शून्यकाल में गन्ना किसानों की यह पुरानी मांग उठायी थी कि गन्ना किसानों के लंबित मूल्य भुगतान में आसानी करने के लिए, केंद्र सरकार को पेट्रोल में एथेनॉल की मात्रा 20% कर देनी चाहिए। वास्तव में केंद्र सरकार वर्ष 2022 तक पेट्रोल में ईथनाल की मात्रा बढ़ाकर 10% करना चाहती थी जो कि वर्तमान में 8.5% है।

पूर्व निर्णय के अनुसार सरकार का लक्ष्य, वर्ष 2030 तक पैट्रोल में ईथनाल की मात्रा बढ़ाकर 20% करना था। अब पैट्रोल में 20% ईथनाल मिलाने के इस निर्णय से, लगभग रू 65000 करोड की बचत होगी। अभी देश अपनी जरूरत का 83% तेल आयात करता है।

Live streaming Service in Meerut
Sponsored Ad

तेल आयात घटने से आयात बिल कम होगा तथा शुगर मिलों के हाथ में अधिक राशि आएगी, जिससे गन्ना किसानों को गन्ना मूल्य भुगतान में सहूलियत होगी। राज्यसभा सांसद श्री विजय पाल सिंह तोमर केंद्र सरकार से पूरे देश के गन्ना किसानों की इस पुरानी मांग को, राज्य सभा में लगातार
उठाते रहे हैं।

एथेनॉल का प्रतिशत बढ़ाने से जहां एक ओर महंगे तेल के आयात में खर्च की जाने वाली विदेशी मुद्रा बचेगी, वहीं कार्बन डाइऑक्साइड का उत्सर्जन कम होने से पर्यावरण की स्थिति भी बेहतर होगी क्योकि ईथनाल पर्यावरण हितैषी ईंधन है।


श्री तोमर ने केंद्र सरकार की किसानों और कृषि के प्रति प्रतिबद्धता की सराहना करते हुए कहा कि लगातार किसानों के हित में फैसले किये जा रहे हैं। अभी हाल ही में डीएपी खाद पर प्रति बैग सब्सिडी भी 140% बढ़ाकर ₹500 प्रति बैग से रू 1200 प्रति बैग की गई है। इससे अंतरराष्ट्रीय बाजार के दबाव में मूल्य वृद्धि को रोकते हुए प्रति बैग डी ए पी खाद का मूल्य, मोदी सरकार ने नही बढने दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *