लाखों Zoom अकाउंट्स हैक Dark Web में बेचा जा रहा हैं डाटा

why zoom app is banned in india

लाखों Zoom अकाउंट्स हैक Dark Web में बेचा जा रहा हैं डाटा : Zoom App का User Privacy को लेकर लगातार खतरा बढ़ता ही जा रहा है। कंपनी कह रही है कि इसे ठीक करने का काम लगातार किया जा रहा है लेकिन अब आई एक नई रिपोर्ट से पता चला है कि Zoom को यूज करना अब भी खतरनाक हो सकता है।

Zoom App

लाखों Zoom अकाउंट्स हैक Dark Web में बेचा जा रहा हैं डाटा

Cloud Video Conferencing Application  प्रदान कराने वाली Zoom App की मुश्किलें लगातार बढ़ती ही जा रही है काफी दिनों से देखा जा रहा है कि Corona Lockdown की वजह से पूरी दुनिया में Zoom App के यूजर्स काफी तेजी से बढ़े हैं और इस App (Zoom) में Privacy को लेकर एक बड़ी समस्या देखने को मिल रही है।

Bleeping Computer की रिपोर्ट

Bleeping Computer की एक रिपोर्ट के अनुसार 5,00,000 से भी ज्यादा Zoom App अकाउंट को Dark Web में बेचा जा रहा है चौंकाने वाली बात यह है कि लाखों लोगों का डाटा सस्ते में डार्क वेब पर बेचा जा रहा है कई जगहों पर तो जो Users का डाटा फ्री में ही बेच दिया जा रहा है।

लाखों Zoom अकाउंट्स हैक Dark Web में बेचा जा रहा हैं डाटा : Bleeping Computer की रिपोर्ट के अनुसार Zoom Application User को  यह अंदाजा भी नहीं होता कि उनका डाटा बेचा भी जा रहा है बेचे जा रहे User Name, Password और यूजर द्वारा दर्ज कराई जा रही सभी जानकारियां इस डाटा में शामिल है।

Global Total
Last update on:
Cases

Deaths

Recovered

Active

Cases Today

Deaths Today

Critical

Affected Countries

Total in India
Last update on:
Cases

Deaths

Recovered

Active

Cases Today

Deaths Today

Critical

Cases Per Million

Bleeping Computer की रिपोर्ट के मुताबिक यह भी सामने आ रहा है कि जिन यूजर्स  का एक्सेस मिल रहा है उन सभी यूजर्स को कंपाइल कर के एक नई लिस्ट बनाई जा रही है और इसे डार्क वेब पर बेचने का काम किया जा रहा है Cyber Security Firm Cyble  की की रिपोर्ट के मुताबिक काफी Zoom Application यूजर्स की डिटेल हैकर फोरम पर बेचने के लिए भी अपलोड किया गया है।

Cyber Security Firm ने यह भी कहा है  हमारे द्वारा Zoom  कंपनी 5,00,000 से भी ज्यादा यूजर्स लॉगइन डीटेल्स खरीदी गई.. इसके साथ ही कंपनी ने यह भी स्पष्ट किया है कि यह डेटा यूजर्स को आगाह करने के लिए हमारे द्वारा खरीदा गया है जिससे यह साबित किया जा सके कि Zoom के द्वारा डाटा बेचा जा रहा है यह डाटा 10 पैसे प्रति अकाउंट से भी कम में खरीदा गया है।

फिलहाल Zoom Application के द्वारा अपने Users को कोई भी जानकारी नहीं दी गई है यदि आप Zoom ऐप का प्रयोग कर रहे हैं तो तुरंत ही अपने अकाउंट का पासवर्ड बदलने और स्ट्रांग पासवर्ड का प्रयोग करें। यदि आपका झूम अकाउंट डाटा ब्रीच में  लीक हुआ है  या नहीं तो आप इसे चेक भी कर सकते हैं चेक करने के लिए Have I Been Pwned  वेबसाइट पर जाकर अपना ईमेल आईडी डाल कर चेक कर सकते हैं इससे आपको पता चल जाएगा कि आपका डाटा लिंक है या नहीं।

Google के द्वारा भी अपने कर्मचारियों को Zoom (Cloud Video Conferencing Application) का यूज़ करने के लिए सख्त तौर पर मना कर दिया गया है और इसका मुख्य कारण केवल यूजर्स की प्राइवेसी का दुरुपयोग और हैकिंग ही है।

यह भी पढ़ेः भारतीय कोरोना वायरस ट्रेकिंग ऐप- Aarogya Setu

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *